pargarph1
शासकीय मयूरध्वज महादानी राजा स्नातकोत्तर महाविद्यालय चाम्पा, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अधिनियम 2 एफ एवं 12 बी के अंतर्गत पंजीकृत एवं गुरुघासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय, बिलासपुर से संबंद्ध शैक्षणिक संस्थान है , जिसकी स्थापना 1972 में की गई । महाविद्यालय का मुख्य उद्देश्य क्षेत्रीय स्तर पर उच्च शिक्षा की आवश्यकताओ की पूर्ति करते हुए उन्हें एक उपयुक्त शैक्षणिक वातावरण उपलब्ध कराना है ।

वर्तमान में महाविद्यालय द्वारा स्नातक स्तर पर 14 विषय उपलब्ध हैं जिनमें विज्ञान संकाय के अंतर्गत - पादप विज्ञान, प्राणी शास्त्र, रसायन शास्त्र, टसर टेक्नोलॉजी , भौतिक शास्त्र, गणित , कंप्यूटर विज्ञान, इसी प्रकार ....

कला संकाय  के अंतर्गत - विभिन्न संयोजनों के रूप में समाजशास्त्र, हिन्दी साहित्य, अंग्रेजी साहित्य, इतिहास, अर्थशास्त्र राजनीती शास्त्र तथा वाणिज्य संकाय उपलब्ध है। इसी तरह स्नातकोत्तर स्तर पर महाविद्यालय में रसायन विज्ञान, अंग्रेजी साहित्य, गणित, समाजकार्य, समाज शास्त्र, इतिहास, अर्थशास्त्र, राजनीति विज्ञान उपलब्ध है। जनभागीदारी स्व वित्तीय योजना के अंतगत महाविद्यालय में शैक्षणिक सत्र 2000 से विभिन्न रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रम प्रारंभ किये है। महाविद्यालय ने राष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी उच्च गुणवत्ता एवं अध्ययन अध्यापन हेतु अनुकूल वातावरण से एक ऐसी छबि बनाई है जो कि विभिन्न राज्यों के विद्यार्थियों को भी आकर्षित कर रही है।

राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद बंगलोर द्वारा शैक्षणिक सत्र 2015-16 में महाविद्यालय को ''बी'' ग्रेड प्रदान किया गया है। शासकीय मयूरध्वज महादानी राजा स्नातकोत्तर महाविद्यालय चांपा ने प्रोत्साहन एवं शिक्षा के लक्ष्य में एक नया आयाम प्रस्तुत किया है जिससे महाविद्यालय ने टाटा सामाजिक विज्ञान संस्थान, मंबई से समझौता करते हुए राष्ट्रीय स्तर पर एड्स काउंसलिंग एंड ट्रेनिंग सेंटर के रूप में अपनी सक्रियता निभायी है।

इग्नू के अध्ययन केन्द्र के माध्यम से 24 विविध स्नातक एवं स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम छात्र-छात्राओं को उपलब्ध कराए जा रहे हैं। कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जन संचार विश्वविद्यालय, रायपुर से संबद्ध बी.जे.एम.सी पाठ्यक्रम उपलब्ध है।